Credit Card से जुड़े इन 5 बातों को समझ लीजिये – कर्ज के जाल में कभी नहीं फंसेंगे

Written by Team Sarkari Aadmi

Updated on:

क्रेडिट कार्ड भले ही लोगों के लिए सुविधाजनक होता है, लेकिन इसके कई सारे नुकसान भी हैं। अगर आप भी क्रेडिट कार्ड से जुड़े कुछ बातों को समझ लेंगे तो भविष्य में न ही कर्ज के जाल में फंसेंगे और न ही आपका क्रेडिट स्‍कोर खराब होगा।

आजकल क्रेडिट कार्ड लोगों की जरूरत की चीज बन गया है। इसकी मुख्य वजह यह है कि क्रेडिट कार्ड बहुत ही सुविधाजनक होता है। अगर आपकी जेब में पैसे नहीं हैं और आप किसी सामान को खरीदना चाहते हो, तो आप अपने क्रेडिट कार्ड के जरिए पेमेंट करके अपनी जरूरत के सामान को खरीद सकते हैं और ग्रेस पीरियड में पैसे को बिना किसी ब्‍याज के लौटा सकते हैं।

लेकिन अगर आप क्रेडिट कार्ड का बिल समय के अंदर नहीं चुका पाते हैं तो ये आपके लिए ये मुश्किल भी खड़ी कर सकता है। ऐसे में आपको बकाया रकम पर अच्‍छा खासा ब्‍याज देना पड़ेगा। इस चक्‍कर में कई बार तो लोग कर्ज के जंजाल में फंस जाते हैं। बिल को नहीं चुकाने से आपका क्रेडिट स्‍कोर भी खराब हो जाता है। अगर आप भी क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं तो इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों को अच्‍छे से समझ लीजिये। अगर आप क्रेडिट कार्ड का होशियारी से इस्‍तेमाल करेंगे तो आप न ही कर्ज के जाल में फसेंगे और न ही आपका क्रेडिट स्‍कोर खराब होगा।

ऑफर्स या डिस्‍काउंट के चक्‍कर में कभी भी क्रेडिट कार्ड न लें

आपको क्रेडिट कार्ड की जरूरत है भी या नहीं, पहले इस बात को समझें, उसके बाद ही क्रेडिट कार्ड लें। सिर्फ लोगों या दोस्तों की तमाम बातें सुनकर या ऑफर्स और डिस्‍काउंट के बारे में सुनकर क्रेडिट कार्ड कभी भी न लें. इस चीज का हमेशा ध्‍यान रखिये कि क्रेडिट कार्ड से किया गया खर्च आपके ऊपर कर्ज ही होता है। अगर आप लिए गए कर्ज को समय से नहीं चुका पाए तो अपने लिए बहुत बड़ी मुश्किल बढ़ा लेंगे।

एक से अधिक क्रेडिट कार्ड लेने से हमेशा बचें

अगर आपके पास एक क्रेडिट कार्ड है और उससे आपका काम चल रहा है, तो दूसरा क्रेडिट कार्ड लेकर आप अपने लिए ही मुश्किल बढ़ाएंगे क्‍योंकि एक से अधिक क्रेडिट कार्ड के होने से कई बार फिजूल खर्च भी बढ़ता है। एक से अधिक क्रेडिट कार्ड होने पर कई बार ऐसा होता है की खर्च किए गए अमाउंट की भरपाई समय से कर पाना बड़ा मुश्किल हो जाता है। ऐसे स्थिति में कर्ज में फंसने की संकट बन जाती है। इसके अलावा लोगों के सामान्य जीवन में क्रेडिट कार्ड के अलावा और भी तमाम अन्‍य खर्च जुड़े होते हैं। ऐसे में एक से ज्‍यादा कार्ड रखने पर आपको फालतू में वो खर्च भी देने पड़ते हैं जिससे आप कभी भी संकट में फंस सकते हैं।

अपने क्रेडिट लिमिट का 30 प्रतिशत से ज्‍यादा खर्च न करें

हर क्रेडिट कार्ड की एक तय लिमिट होती है। ये लिमिट आपके कार्ड पर निर्भर करती है जो हजारों से लेकर लाखों तक की हो सकती है। आपको कभी भी अपने कार्ड के लिमिट से ज्‍यादा खर्च नहीं करना चाहिए। फाइनेंस से जुड़े एक्‍सपर्ट का मानना है कि क्रेडिट कार्ड की लिमिट का 30 प्रतिशत तक ही खर्च करना चाहिए, उससे अधिक नहीं। अगर आप 30 प्रतिशत से ज्‍यादा खर्च कर रहे हैं तो आपके क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेश्‍यो पर इफेक्ट पड़ता है। आप जितना ज्यादा अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करेंगे उतना ही ज्यादा आपका CUR होगा। इससे इस बात का संकेत मिलता है कि आप क्रेडिट कार्ड पर बहुत ज्यादा निर्भर रहते है। इस स्थिति में आपका क्रेडिट स्‍कोर ख़राब होता है। इसलिए अच्छे क्रेडिट स्कोर को बनाये रखने के लिए हमेशा सलाह दी जाती है कि क्रेडिट उपयोग की रेश्‍यो 30 प्रतिशत से ज्‍यादा नहीं होनी चाहिए.

अचानक क्रेडिट कार्ड को क्लोज करवा देना

कई बार लोगों के साथ ऐसा होता है की उनके पास दो कार्ड होने पर एक कार्ड अचानक से बंद करवा देते हैं। ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। इससे आपका क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेश्यो बढ़ सकता है क्‍योंकि आपका क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेश्यो पहले दो कार्डों में devide था, लेकिन एक कार्ड बंद करवा देने के बाद वो एक ही कार्ड में होगा। हाई क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेश्यो से आपका क्रेडिट स्कोर ख़राब हो जाता है। इसलिए आपको सलाह है की आप कार्ड का उपयोग भले ही न करें, लेकिन उसे एक्टिव रखें, बंद न करवाएं।

कार्ड से कभी भी कैश निकालने की गलती न करें

क्रेडिट कार्ड में ये सुविधा मिलता है की आप मुश्किल समय में अपने कार्ड से कैश भी निकाल सकते हैं। आप अपने कार्ड से कितना कैश निकाल सकते हैं, ये आपके कार्ड में मिले लिमिट के मुताबिक तय होता है। लेकिन क्रेडिट कार्ड से कैश पैसा निकालने से हमेशा ही बचना चाहिए क्‍योंकि अगर आप कार्ड से कैश निकलते हैं तो इसके लिए आपको अच्‍छा खासा चार्ज देना पड़ता है। इसके अतिरिक्त कैश एडवांस पर ब्याज मुक्त क्रेडिट पीरियड का भी कोई लाभ नहीं मिलता है।

Leave a Comment