Indian Rupee : नोटों पर अब नहीं छपेगा महात्मा गाँधी का फोटो

Written by Team Sarkari Aadmi

Published on:

RBI News : अपने देश की आज़ादी (1947) के बाद सबसे अहम मुद्दा था की नोटों के ऊपर किसकी फोटो लगाई जाए और तब जाकर फैसला हुआ की महात्मा गाँधी (Mahatma Gandhi) की फोटो को देश के नोटों के ऊपर लगाया जायेगा पर अब इतने सालों बाद भारतीय रुपयों के ऊपर से महात्मा गाँधी की फोटो हटाने का विचार विमर्श किया जा रहा है और इस बात को लेकर आये दिन खबरें सुनने को मिल रही है, तो क्या वाकई में आने वाले दिनों में नोटों के ऊपर से महात्मा गाँधी की फोटो गायब हो जाएगी, चलिए जानते हैं इस चीज को लेकर RBI (reserve bank of india) का क्या प्लान है ?

क्या आने वाले दिनों में नोटों के ऊपर से महात्मा गांधी की फोटो हटा दी जाएगी ? Social media पर चल रही इस चर्चा के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की तरफ से सफाई दी गई है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) के मुताबिक इस तरह का कोई प्रस्ताव अभी नहीं दिया गया है। बता दें की, पिछले दिनों एक रिपोर्ट में कहा गया था कि रविन्द्र नाथ टैगोर और अब्दुल कलाम के फोटो वाले नोट जल्द ही जारी किए जा सकते हैं।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि बैंक नोट पर से महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की तस्वीर बदलने का अभी कोई भी प्रस्ताव नहीं है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने स्पष्ट किया है कि मीडिया में कुछ जगह ऐसी खबरें दिखी हैं कि भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) महात्मा गांधी के फोटो वाली वर्तमान मुद्राओं और बैंक नोटों को बदल कर उसकी जगह अन्य लोगों के चित्र वाले नोट और मुद्रा लाने पर विचार कर रही है। लेकिन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है। 

क्या है पूरा मामला 

 Reserve Bank of India रविन्द्र नाथ टैगोर और ए पी जे अब्दुल कलाम की तस्वीर वाली नोट को जारी करने पर विचार कर रहा है। रिपोर्ट में बताया गया था कि फाइनेंस मिनिस्ट्री के अंदर सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग काॅर्पोरेशन ऑफ इंडिया (SPMCIL) ने महात्मा गांधी, ए पी जे अब्दुल कलाम और रविन्द्र नाथ टैगोर के वॉटरमार्क वाले दो सेट IIT दिल्ली के प्रोफेसर दिलीप साहनी के पास भेज दिया है। प्रोफेसर दिलीप साहनी को उन दोनों सेट में से चयन करने के लिए कहा गया है। जिसके बाद इसे सरकार के सामने प्रेजेंट किया जाएगा।

अमेरिका और जापान जैसे देशों में एक से अधिक व्यक्तियों वाले नोटो की छपाई होती है। अमेरिका के डाॅलर पर जार्ज वाशिंगटन और अब्राहम लिंकन तक की तस्वीर दिखाई देती है। वहीं जापान देश के येन पर भी कई तस्वीरें दिखाई पड़ती है।

Digital Rupay से गायब हो चुकी है फोटो 

कुछ समय पहले ही Reserve Bank of India ने देश का Digital rupay मार्किट में उतारा है , Digital rupay ऐसी करेंसी है जिसका इस्तेमाल सिर्फ ऑनलाइन माध्यम से ही किया जा सकेगा, Digital rupay वाली करेंसी हमे सिर्फ सॉफ्ट फॉर्मेट में ही मिलती है , इस Digital rupay के ऊपर से महात्मा गाँधी की फोटो गायब हो चुकी है।

1949 तक नोट पर किंग जॉर्ज की फोटो थी

15 अगस्त 1947 को देश तो आजाद हो गया, लेकिन आजादी के दो साल बाद तक आजाद भारत की करेंसी के रंग-रूप में कोई बदलाव नहीं हुआ था। सन 1949 तक अपने भारतीय नोट पर ब्रिटेन के राजा किंग जॉर्ज (छठवें) की ही तस्वीर छपती रही थी। वर्ष 1949 में भारत सरकार ने पहली बार 1 रुपये के नोट का नया डिजाइन लाया और इस नोट पर किंग जॉर्ज की जगह अशोक स्तंभ को छापा गया।

वर्ष 1950 में भारत सरकार ने 2 रुपये , 5 रुपये , 10 रुपये और 100 रुपये के नोट छापे थे और इन नोटों पर भी अशोक स्तंभ की ही तस्वीर छापी गई। अगले कुछ वर्षों तक भारतीय रुपए पर अशोक स्तंभ के साथ-साथ अलग-अलग तस्वीरें छापी गई थी। जैसे की – आर्यभट्ट और सैटेलाइट से लेकर कोणार्क का सूर्य मंदिर और किसान तक की फोटो छापी गई।

पहली बार गांधी की फोटो रुपये पर कब छपी ?

वर्ष 1969 में पहली बार भारतीय रुपये पर महात्मा गांधी की फोटो छापी गई थी। वर्ष 1969 में महात्मा गांधी की 100वीं जयंती थी और इसी अवसर पर खास सीरीज जारी की गई थी। इस सीरीज के नोट में महात्मा गांधी की सेवाग्राम आश्रम की एक फोटो को छापी गई थी। वर्ष 1987 में दूसरी दफा 500 रुपये के नोट पर महात्मा गांधी की फोटो छापी गई थी।

Leave a Comment