IPO में निवेश करने वाले सावधान ! SEBI प्रमुख

Written by Team Sarkari Aadmi

Updated on:

IPO बूम पर SEBI प्रमुख माधवी पुरी बुच ने निवेशकों को सतर्क किया है। उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि निवेशकों से ज्यादा संख्या में ट्रेडर्स प्राइमरी मार्केट में निवेश कर रहे हैं। रीटेल निवेशकों को कम से कम कंपनी के 1 तिमाही रिजल्ट का इंतजार जरूर करना चाहिए।

IPO Updates: पिछले कुछ महीनों में प्राइमरी मार्केट में बहुत एक्शन देखने को मिला है। पिछले कुछ समय में दर्जनों कंपनियां बाजार में लिस्ट हुईं है और उनमे से ज्यादातर IPO को कई गुना सब्सक्रिप्शन मिले हैं। AIBI यानी एसोसिएशन ऑफ इन्वेस्टमेंट बैंकर्स ऑफ इंडिया के कार्यक्रम में SEBI की प्रमुख माधवी पुरी बुच ने कहा कि IPO में बहुत ज्यादा संख्या में ट्रेडर्स आ रहे हैं न कि निवेशक। Mule अकाउंट का इस्तेमाल करके ओवर-सब्सक्रिप्शन दिखाने का काम किया जा रहा है। सेबी को इस चीज के संकेत मिले हैं। इसे रोकने के लिए जल्द ही कोई कदम उठाए जाएंगे।

रीटेल निवेशकों को कंपनी का लिस्टिंग के बाद निवेश करना चाहिए

SEBI प्रमुख ने कहा कि रीटेल निवेशकों को IPO के बाद सेकंडरी मार्केट में ही निवेश करना चाहिए। किसी भी IPO में प्राइस की डिस्कवरी सटीक नहीं होती है। बड़ी संख्या में लोग लिस्टिंग होने के बाद जल्दी ही शेयर्स बेच कर निकल जाते हैं। डेटा के अनुसार, लिस्टिंग होने के 1 हफ्ते के अंदर 43% रीटेल निवेशक शेयर को बेचकर निकल जाते हैं। वहीं, 68% निवेशक HNI मतलब हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल्स लिस्टिंग के 1 हफ्ते के अंदर शेयर बेचकर बाहर हो जाते हैं।

IPO के मंजूरी का समय भी कम हुआ है

माधबी पुरी बुच ने यह भी कहा कि IPO मार्केट में जो तेजी दिख रही है उसका श्रेय पूरे इकोसिस्टम को है। तेजी का क्रेडिट इकोनॉमी को और अच्छी कंपनियों को जाना चाहिए। समय के साथ IPO की मंजूरी में लगने वाला समय भी कम हुआ है. इंटीग्रिटी के माध्यम से प्राइमरी मार्केट में भरोसा बना रहे उसको सुनिश्चित करने का लक्ष्य है।

IPO में निवेशक से ज्यादा ट्रेडर्स पैसा लगा रहे हैं

सेबी प्रमुख माधबी पुरी बुच ने कहा कि अगर कोई निवेशक हाल ही में लिस्टेड कंपनी में निवेश करना चाहता है उस निवेशक को कम से कम कंपनी के एक तिमाही के रिजल्ट का इंतजार जरूर करना चाहिए। अगर कोई ट्रेडर है तो फिर उसके लिए आईपीओ में निवेश करना सही होता है क्योंकि वोलाटिलिटी इस गेम का पार्ट होता है.

अभी 3 IPO की जांच की जा रही है

सेबी की तरफ से IPO के ओवर सब्सक्रिप्शन के 3 मामले जानकारी में आये हैं जिनकी जांच हो रही है। अगर सेबी ने पाया कि mule अकाउंट का इस्तेमाल कर सब्सक्रिप्शन को बढ़ाया गया है तब सेबी डाटा देखकर और ज्यादा एनालिसिस करेगी और कड़े से कड़े कदम उठाएगी। सेबी प्रमुख माधबी पुरी बुच ने कहा कि ऑटोमेशन के जरिए इश्यू डॉक्यूमेंट में कमियां पकड़ी जाएंगी। इससे कमियां जल्दी पकड़ में आने से इश्यू पर नजरिया बनाना आसान हो जायेगा।

Leave a Comment